मुंबई के बॉलीवुड डायरेक्टर बिहार के एक मामले में गए जेल

मुंबई के बॉलीवुड डायरेक्टर बिहार के एक मामले में गए जेल

Photo Credit by- One india

पटना: बॉलीवुड फिल्म डायरेक्टर कुलभूषण गुप्ता को मुंगेर व्यवहार न्यायालय के द्वारा 2 साल कारावास और 3 लाख रुपए दंड की सजा सुनाई गई। जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। उनके खिलाफ आरोप था की फिल्म Pardesi Babu बनाने की एवज में उन्होंने बिहार के मुंगेर में रहने वाले एक व्यक्ति से फिल्म बनाने के नाम पर पैसे लिए थे। जिसे लौटाने में वो आनाकानी कर रहे थे। जब काफी दबाव दिया गया तो उन्होंने 7 लाख रुपए का चेक दिया लेकिन वो भी बाउंस हो गया था।

इसी मामले को लेकर मुंगेर के रहने वाले श्याम बहादुर सिंह के द्वारा कोर्ट में मामला दर्ज कराया गया और इस मामले की सुनवाई करते हुए मुंगेर के एडिश्नल जज जीवनलाल ने आरोपी फिल्म डायरेक्टर कुलभूषण गुप्ता को एन आई एक्ट के तहत दोषी पाते हुए 2 साल की सजा और 3 लाख रुपए जुर्माना सुनाया है।

1998 का है मामला
आपको बता दें कि मामला साल 1998 का है जब डायरेक्टर कुलभूषण गुप्ता के निर्देशन में परदेसी बाबू फिल्म का निर्माण किया जा रहा था। इस फिल्म को बनाने के लिए डायरेक्टर के द्वारा फाइनेंसर से पैसा लिया गया था। लेकिन वो पैसा देने में आनाकानी कर रहे थे। जिसको लेकर फाइनेंसर श्याम बहादुर सिंह ने काफी दबाव बनाया तो उन्हें 7 लाख का एक चेक जारी कर दिया गया जो बैंक में डालते ही बाउंस हो गया। चेक बाउंस होते ही श्याम बहादुर सिंह ने मुंगेर कोर्ट में डायरेक्टर के खिलाफ मामला दर्ज करवाया और लंबी सुनवाई होने के बाद न्यायालय के द्वारा क्या फैसला सुनाया गया। फैसला सुनाए जाने के बाद कुलभूषण गुप्ता को तुरंत गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेज दिया गया।

 

फाइनेंस को लेकर अक्सर रहे हैं विवादों में
कुलभूषण गुप्ता अपने निर्देशन में कई हिंदी फिल्म बना चुके हैं लेकिन फाइनेंस को लेकर अक्सर वाद-विवादों में घिरे हुए रहते थे। मुंबई में रहने वाले कुलभूषण गुप्ता फिलहाल मुंगेर जेल में कैद हो गए हैं। वहीं बातचीत के दौरान श्याम बहादुर सिंह ने बताया कि कुलभूषण गुप्ता के द्वारा कई लोगों के साथ पैसे के मामले में भी फर्जीवाड़ा किया गया है।

कैसे लड़ पाए श्याम बहादुर?
श्याम बहादुर सिंह ने बताया कि मेरे ही मामले को लेकर कई बार उन्होंने मुझे उठवाने की धमकी भी दी थी लेकिन जिस तरह उन्होंने मेरे साथ धोखाधड़ी की और किसी के साथ ना करें इसलिए मैं लगातार उनके खिलाफ कोर्ट में जाते रहा और आज उन्हें अंतिम मंजिल तक पहुंचा दिया है।

 

Write a Comment

view all comments

Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person. Required fields marked as *