फर्टिलिटी बूस्ट करने के लिए डायट में शामिल करें ये सुपरफूड

फर्टिलिटी बूस्ट करने के लिए डायट में शामिल करें ये सुपरफूड

Photo Credit by- ABP news

किसी भी काम को बेहतर तरीके से करने के लिए खाना एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. स्टडी से पता चला है कि खाने में कुछ विशिष्ट बदलाव करने से प्रजनन क्षमता में सुधार और गर्भपात के खतरे को कम किया जा सकता है. जानिए कुछ ऐसे फूड्स के बारे में जो फर्टिलिटी बूस्ट करने में मदद करेगें.

हरी सब्जियां- हरी सब्जियां आपकी सेहत के लिए तो अच्छी हैं ही, साथ ही साथ ये प्रजनन क्षमता को सुधारने में भी मदद करती है. पालक, ब्रोकोली जैसी अन्य हरी सब्जियां महिलाओं में गर्भपात का खतरा कम करती हैं. ये पुरुषों में स्वस्थ शुक्राणु बनाने में भी मदद करती है.

दूध- दूध में कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है. यदि दूध का निरंतर रूप से सेवन किया जाए तो इससे प्रजनन क्षमता में वृद्धि‍ होती है. गर्भावस्था में दूध आवश्यक है. अगर आपको दूध पसंद नहीं है तो इसकी जगह आप दूध से बनी आइसक्रीम, दही या पनीर का सेवन भी कर सकते हैं.

अंडा- यदि आपको आपकी फर्टिलिटी में सुधार लाना है तो आपको अपने खाने में अंडे को शामिल करना चाहिए. अंडे खाने से महिलाओं में प्रजनन प्रणाली में भी सुधार होता है. आप उबला हुआ अंडा, ऑमलेट या अंडे को चावल के साथ मिलाकर भी खा सकते है. ये आपकी पसंद पर निर्भर करेगा.

तली हुई मछली- गर्भावस्था के दौरान आपको फैटी(जिसमें वसा की मात्रा हो) मछली खानी चाहिए. मछली में आमेगा ‘3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होता है जो कि ऑवल्यूहशन को रेगुलेट करने में मदद करता है. ये एग क्वा लिटी भी बहेतर करता है. साथ ही ओवरी की एजिंग को रोकने में मदद करता है.

ब्राउन राइस- ब्राउन राइस शरीर में कार्बोहाइड्रेट का एक अच्छा स्रोत है. ब्राउन राइस खाने से महिलाओं की प्रजनन क्षमता में सुधार होता है. इसमें फोलिक एसिड की अच्छी मात्रा होती है जो नवजात शिशुओं में न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट्स को रोकने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है.

केला- केले की सब्जी, केले के फल सलाद, केले का हलवा, केला से बने हुए पैनकेक्स इत्यादि स्वादिष्ट पदार्थ भी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं. इसमें विटामिन बी6 की मात्रा अधिक होती है. इसका सेवन करने से पुरुषों में शुक्राणुओं की मात्रा में बढ़ोतरी होती है. महिलाएं यदि केले का सेवन करती हैं तो उनमें अच्छी गुणवत्ता वाले एग्स और गर्भावस्था के खतरे से बच सकती है.

बादाम- बादाम में विटामिन ई और ओमेगा-3 की उच्च मात्रा होती है जो कि गर्भधारण करने वाली महिलाओं के लिए फायदेमंद है. इससे पुरुषों में भी शुक्राणुओं की संख्या में वृद्धि‍ होती है.

स्प्राउट्स- गर्भावस्था के दौरान गोभी खाना आपके लिए बहुत फायदेमंद है. इसमें फोलिक एसिड होता है. स्प्राऊट्स पुरुषों और महिलाओं में प्रजनन क्षमता को बढ़ावा देती हैं. फोलिक एसिड के अलावा इसमें कई तरह के विटामिंस और पोषक तत्वों की मात्रा भी अधिक होती है जो कि पुरुषों में शुक्राणुओं कि संख्या को बढ़ाने में मदद करती है और महिलाओं में गर्भपात के खतरे को कम कर देती है.

ब्लैक बीन्स- यदि आप फर्टिलिटी की समस्या जैसे पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) या इम्यूनोलॉजिकल पीड़ित हैं तो आपको अपने खाने में ब्लैक बीन्स को शामिल करने की जरूरत है. बीन्स में फाइबर की मात्रा अधिक होती है जो डायबिटीज के लेवल को नियंत्रित करने और हार्मोनल बैलेंस को स्वस्थ रखने में मदद करती है. इसके अलावा इसमें फोलेट, मैंगनीज, प्रोटीन, मैग्नीशियम जैसे आवश्यक पदार्थ भी सम्मिलित होते हैं.

खट्टे फल- खट्टे फल का इस्तेमाल सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए ही नहीं किया जाता बल्कि इसका उपयोग करने से महिलाओं की प्रजनन क्षमता में भी सुधार होता है. इसमें विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है जो कि पुरुषों में शुक्राणु की गुणवत्ता में सुधार करती है.

नट्स- कई महिलाएं गर्भधारण तो कर लेती हैं लेकिन उनमें बच्चे को इम्प्लांट करने में मुश्किल होती है जिसकी वजह से उन्हें जल्द ही गर्भपात का सामना करना पड़ता है. नट्स में सेलेनियम नामक एक पदार्थ होता है जो महिलाओं कि यूट्रिनल वॉल को मजबूत करता है.

कद्दू के बीज- कद्दू के बीज महिलाओं में प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं. इसके अलावा कद्दू के बीज पुरुष के शुक्राणु और महिला के एग्स को स्वस्थ रखने में भी मदद करते हैं.

Write a Comment

view all comments

Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person. Required fields marked as *